Breaking News
Home / Photo Feature / ताऊ देवीलाल की विरासत के लिए सबसे बड़े दावेदार के रूप में मजबूत बनते जा रहे बिल्लू

ताऊ देवीलाल की विरासत के लिए सबसे बड़े दावेदार के रूप में मजबूत बनते जा रहे बिल्लू

CHANDIGARH 

DEV SHEOKAND 

चौटाला परिवार में ताऊ देवीलाल की सियासी विरासत के लिए जंग तेज होने की संभावना है।देश के पूर्व उप प्रधानमंत्री ताऊ देवीलाल की राजनीतिक विरासत का झंडा थामने को लेकर चौटाला परिवार में चल रही जंग के बीच अभय चौटाला बड़ा दांव खेल गए। इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला के छोटे बेटे और ताऊ देवीलाल के पोते अभय चौटाला ने किसानों के हक में हरियाणा विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देकर अपने दादा की राजनीतिक विरासत पर निगाह गड़ाए बैठे परिवार के बाकी सदस्यों के सामने बड़ी चुनौती खड़ी कर दी है।

इनेलो नेताओं का कहना है कि जिस तरह से पिछले एक साल से वह अकेले ही किसान व जनहित के मुद्दों पर सरकार की नाक में दम कर रहे, उससे कार्यकर्ताओं में उनकी पैठ बढ़ी है।जजपा 10 विधायक जिताकर सत्ता में भाजपा के साथ साझीदार हो गई, लेकिन इनेलो के एकमात्र विधायक अभय चौटाला जीते। इसके बावजूद अभय सिंह ने हिम्मत नहीं हारी।अभय ने कोरोना काल से लेकर अब तक न केवल एसवाईएल नहर निर्माण के लिए संजीदगी से प्रयास किए, बल्कि किसानों के हक में आवाज बुलंद करते हुए विधानसभा की सदस्यता तक से इस्तीफा दे दिया। हालांकि यह सशर्त है। ऐसे मौके भी बार-बार आए, जब जजपा के विधायकों ने किसानों के समर्थन में हुंकार भरी, लेकिन सत्ता से चिपकी जजपा कोई बड़ा फैसला लेने का साहस नहीं जुटा पाई।

सोशल मीडिया पर अभय की ही चर्चा

इनेलो नेताओं का कहना है कि अभय चौटाला ने अपनी पार्टी के एकमात्र विधायक होने के बावजूद विधानसभा की सदस्यता की परवाह नहीं की और किसानों के हित में इस्तीफा देकर गेंद ताऊ देवीलाल की राजनीतिक विरासत का झंडा बुलंद करने वाले चौटाला परिवार के सदस्यों के पाले में डाल दी।

राजनीतिक गलियारों में अभय के कदम को न केवल हौसले वाला फैसला माना जा रहा है, बल्कि उन्हें सोशल मीडिया पर ताऊ देवीलाल की राजनीति का असली वारिस कहकर प्रचारित किया जाने लगा है। वेसे ताऊ देवीलाल के परिवार का हर सदस्य किसी न किसी रूप में खुद को उनका वारिस बताने से नहीं चूक रहा है। रणजीत सिंह चौटाला हो या फिर अजय सिंह और दुष्यंत चौटाला, खुद को ताऊ देवीलाल की राजनीति का बड़ा वारिस मानते हैं।

About Dev Sheokand

Assignment Editor

Check Also

परिवहन विभाग से सरप्लस हुए ड्राइवरो को अब यहां किया जाएगा शिफ्ट , पढ़िए पूरी खबर

चंडीगढ़ Dev Sheokand हरियाणा के परिवहन विभाग में भारी वाहन चलाने वाले लगभग 1000 ड्राइवर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Watch Our YouTube Channel