Breaking News
Home / Photo Feature / राजनैतिक व धार्मिक अलगाव का प्रत्युत्तर है-आध्यात्मिक जागरूकता

राजनैतिक व धार्मिक अलगाव का प्रत्युत्तर है-आध्यात्मिक जागरूकता

चंडीगढ़ ।

भारत के प्राचीन अंतरधार्मिक भाईचारे और मिश्रित संस्कृति को पिछले कुछ समय में अप्रत्याशित रूप से राजनैतिक व धार्मिक विभाजन के खतरे का सामना करना पड़ रहा है।अपने एजेंडे को बढ़ाने के लिए प्रत्येक प्रकृति वाले राजनीतिज्ञ अपने सभी जरिये अपनाकर हर मुद्दे पर मासूम लोगों को गुमराह करते रहे हैं। इसे आगे बढ़ाते हुए कुछ विध्वंसकारी मानसिकता के गिने-चुने लोग देश का अपहरण करने और सोशल मीडिया पर भ्रम व अविश्वास पैदा करने का कोई भी प्रयास करने से पीछे नहीं हट रहे हैं।वस्तुओं को अपनी मौलिक स्थिति में देखने की स्वतंत्रता अब खतरे में है तथा हर प्रकार के पूर्वाग्रह को प्रचारित किया जा रहा है।अन्यथा,यह इतना आसान नहीं था कि लोग सड़कों/गलियों में आकर हिंसा अपनाएं और जिन्हें दिल्ली जैसी जगह पर हाल ही में हुए सांप्रदायिक दंगों के लिए प्रेरित किया जा सकता । भारतीय मूल्यों के इस दुखद पतन को आध्यात्मिक आंदोलन चलाकर पलटा जा सकता है जो लोगों के मस्तिष्क को खोलेगा और वे जीवन के बृहत् पहलुओं को देख सकेंगे । जब लोग आध्यात्मिक हो जाते हैं तो वे खुद को किसी विशेष समूह या धर्म से पहचानने की आदत से पार हो जाते हैं । अध्यात्म मानवीय मूल्यों को प्राकृतिक तौर पर ऊपर उठा देता है और जात-पात व धर्म की संकीर्ण सीमाओं को तोड़ देता है। ऐसे समय में जब समाज राजनैतिक व धार्मिक विचारधारा की मूढ स्थिति से जूझ रहा हो, अध्यात्म हमारे दिलो-दिमाग को जोड़ सकता है। लोगों ने ऐसे अनेकों उदाहरण देखें हैं जिनके अनुसार व्यक्ति विशेष व संगठनों ने अपने अंतर्निहित उद्देश्यों की प्राप्ति हेतु कुछ आंदोलनों में घुसपैठ कर उनका अपहरण कर लिया ।

समाज के प्रत्येक वर्ग के प्रमुख धर्मशास्त्रियों, विद्वानों और शिक्षाविदों को इस ‘आध्यात्मिक क्रांति’ की अगुवाई करनी चाहिए जो सभी धर्मों के लोगों को उनकी धार्मिक सीमाओं से पार ले जाकर जोड़ सकेगी ।

About Dev Sheokand

Check Also

जानिए उस शख्स के बारे मे जिसने कहा था की इस्लाम कभी भी अपने अनुयायिों को एकाधिकार खोने का निर्देश नहीं देता

नई दिल्ली ( Sonu Chaudhry ) विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में 21वीं सदी की दुनिया को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Watch Our YouTube Channel