Home / हरियाणा / राज्य में फैल रहा जाली मार्कशीट का कारोबार

राज्य में फैल रहा जाली मार्कशीट का कारोबार

मुक्त विद्यालय शिक्षा परिषद हरियाणा की 10वीं और 12वीं कक्षा की फर्जी मार्कशीट बनाकर भोले-भाले युवकों से लाखों रुपये ठग लिए गए। गिरोह के सरगना पुलिस के बर्खास्त सिपाही रोहतक के पवन राणा ने अपने गिरोह के गुर्गों को अलग-अलग शहरों में छोड़ रखा था।

वे जरूरतमंद युवकों को झांसा देते थे कि उन्हें 10वीं व 12वीं की अच्छे नंबरों से पास की मार्कशीट दिला देंगे। इसके एवज में नंबरों के हिसाब से वसूली का जाती थी।

पानीपत, सोनीपत, करनाल, रोहतक, झज्जर सहित कई शहरों के करीब 700 युवकों को फर्जी मार्कशीट बांट दी गई। पुलिस सरगना पवन को जेल भेज चुकी है।

क्राइम इनवेस्टिगेशन एजेंसी (सीआइए-टू) वीरेंद्र ने बताया कि पवन राणा के गिरोह के एक सदस्य की तलाश है। युवक की गिरफ्तारी के बाद ही पता चल पाएगा कि उसने कहां-कहां के युवकों को फर्जी मार्कशीट दी है। युवकों से कितने रुपये ठगे गए हैं। कहीं युवक फर्जी मार्कशीट के बूते नौकरी तो नहीं लग गए हैं।

करनाल टोल प्लाजा पर काम करने वाले कुरुक्षेत्र के बीबीपुर गांव. के बलवान ने पुलिस को शिकायत दी कि उसे 12वीं की मार्कशीट की जरूरत थी। उसे पता चला कि हरीश मित्तल नामक व्यक्ति पानीपत के रामलाल चौक के पास पुराने कोर्ट रोड पर ग्लोबल एजुकेशन के नाम से कार्यालय है।

जो 12वीं की ओपन परीक्षा दिलवाता है। मित्तल ने उससे डेढ़ लाख रुपये ले लिए और बिना परीक्षा दिलाए 12वीं की मार्कशीट दे दी। मार्कशीट की जांच की तो फर्जी निकली।पुराना औद्योगिक थाना पुलिस ने मामला दर्ज किया। सीआइए-टू आरोपित हरीश मित्तल को गिरफ्तार कर जेल भिजवा चुकी है।

हरीश ने पुलिस को बताया था कि वह 70 मार्कशीट रोहतक सके पवन राणा से लेकर आया था। इसके बाद ही पुलिस ने गिरोह के सरगना पवन राणा को गिरफ्तार किया।

About Dev Sheokand

Assistant Editor

Check Also

माकन के सहारे कांग्रेस देगी खट्टर को ये बड़ी चुनौती

कांग्रेस ने राज्यसभा के लिए 10 जून को होने वाले चुनाव के वास्ते रविवार को …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Watch Our YouTube Channel