Breaking News
Home / Breaking News / 23 सितंबर को इस रैली मे सियासी करवट लेंगी अहिरवाल की राजनैतिक चर्चाएं !

23 सितंबर को इस रैली मे सियासी करवट लेंगी अहिरवाल की राजनैतिक चर्चाएं !

गुरुग्राम

देव श्योकंद

हरियाणा की राजनीति का केन्द्र रहे अहीरवाल इलाके में जड़े मजबूत करने के साथ ही अब केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह जाटलैंड में दमखम दिखाने की तैयारी में हैं। 23 सितंबर को महान स्वतंत्रता सेनानी राव तुलाराम के शहीदी दिवस पर इस बार झज्जर के पाटौदा में राव की तरफ से बड़ी रैली की जा रही हैं। इस रैली के कई मायने निकाले जा रहे हैं।

इस रैली में राव प्रदेश सरकार में 2 मंत्री, 6 विधायक व 3 सांसदों को मंच पर लाकर हाईकमान को संदेश देने की कोशिश करेंगे कि उनके मुकाबले इस क्षेत्र में ओर कोई बड़ा नेता नहीं हैं, क्योंकि एक माह पहले ही मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री भूपेन्द्र यादव अहीरवाल में जन आशीर्वाद यात्रा करके गए हैं। इस यात्रा ने पूरे अहीरवाल में राजनीतिक हलचल पैदा कर दी थी। राव विरोधी खेमा ने भूपेन्द्र यादव को राव इन्द्रजीत का विकल्प तैयार होने का प्रचार किया। भूपेन्द्र यादव की यात्रा को लेकर राव इन्द्रजीत ने कभी चुप्पी नहीं तोड़ी, लेकिन राजनीति ताकत दिखाने के लिए एक बार फिर उन्होंने 23 सितंबर का दिन चुना हैं। रैली इसलिए खास हैं, क्योंकि इसका स्थान अबकी बार अहीरवाल की बजाए जाटलैंड कहे जाने वाले झज्जर में हैं, हालांकि जिस पाटौदा गांव में रैली की जा रही है, उसमें यादवों का दबदबा हैं।

राव खुद कह चुके हैं यह बात

राव खुद कह चुके हैं कि वह कोई कुएं के मेंढक थोड़ी हैं, जो अपने इलाके तक सीमित रहें। इस रैली के जरिए राव भी हाईकमान को संदेश देना चाहते हैं कि उनकी जड़े अहीरवाल ही नहीं, बल्कि हरियाणा के दूसरे जिलों में भी जम चुकी हैं। हालांकि रैली की सफलता का आंकलन तो 23 सितंबर को ही हो पाएगा।
दरअसल, राव की रैली में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ को छोड़कर भाजपा के किसी बड़े नेता को आमंत्रित नहीं किया गया हैं।

अभी तक जिनते भी नेताओं के रैली में शामिल होने के लिए नाम आए हैं, उनमें राव समर्थित मंत्री व विधायक के अलावा उनके नजदीकी सांसद हैं। इस रैली में सोनीपत से सांसद रमेश कौशिक, महेन्द्रगढ़-भिवानी से सांसद चौधरी धर्मबीर, रोहतक से सांसद डा. अरविंद शर्मा, राज्यसभा सांसद डीपी वत्स के अलावा प्रदेश सरकार में मंत्री डा. बनवारी लाल, राज्यमंत्री ओमप्रकाश यादव, कोसली से विधायक लक्ष्मण सिंह यादव, अटेली से विधायक सीताराम, गुरुग्राम विधायक सुधीर सिंगला व सोहना के विधायक संजय तंवर को आमंत्रित किया गया हैं। रैली में मुख्य वक्त केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह होंगे।

23 सितंबर राव के लिए रहा हैं खास
23 सितंबर का दिन हमेशा से ही रामपुरा हाउस के लिए खास रहा हैं। 5 बार से सांसद व 4 बार विधायक रहे राव इन्द्रजीत सिंह के सामने जब भी कोई चुनौती आई। उन्होंने हर बार इसी दिन को ताकत दिखाने के साथ ही बड़े फैसले लेने के लिए चुना। वर्ष 2004 से पहले रेवाड़ी के राव तुलाराम स्टेडियम में पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी भजनलाल को अपनी ताकत दिखाने का समय रहा हो या फिर 23 सितंबर 2012 को पटौदी की रैली। हर बार राव ने विरोधियों को चुनौती देने के लिए इस दिन को चुना। इसके साथ ही 23 सितंबर 2013 के दिन रेवाड़ी के राव तुलाराम स्टेडियम में आयोजित रैली के वक्त ही राव इन्द्रजीत सिंह ने कांग्रेस छोड़ने की बात की थी। बाद में वह भाजपा में शामिल हो गए थे। भाजपा में शामिल होने के बाद एक बार ही 23 सितंबर के मौके पर राव इन्द्रजीत सिंह ने बड़ी रैली की थी। जिसमें तत्कालीन गृहमंत्री एवं वर्तमान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के अलावा मुख्यमंत्री मनोहर लाल को बुलाया गया था, लेकिन इस बार रैली में राव ही मुख्य चेहरा होंगे।

कई निशाने लगाने की है तैयारी


झज्जर के पाटौदा की रैली में राव इन्द्रजीत सिंह एक तीर से कई निशाने साधने की कोशिश करेंगे। एक तरफ रैली में भीड़ जुटाकर खुद को जनाधार वाला नेता तो दूसरी तरफ अहीरवाल से बाहर निकलकर बड़ी रैली करने का संदेश देना हैं। यह रैली भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ के विधानसभा क्षेत्र बादली में हो रही हैं। रैली भी उस वक्त हो रही हैं, जब जाटलैंड के इलाकों में कृषि कानूनों के विरोध में भाजपा नेताओं का सबसे ज्यादा विरोध हो रहा हैं। झज्जर में खुद ओमप्रकाश धनखड़ का कई बार विरोध हो चुका हैं। इन सबके बावजूद राव ने रैली करने का निर्णय लिया। इसके अलावा झज्जर को पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्‌डा का भी गढ़ कहा जा सकता हैं। भूपेन्द्र हुड्‌डा व राव इन्द्रजीत के बीच कड़वाहट जग जाहिर हैं। हुडडा के मुख्यमंत्री रहते समय अगर कोई उनका सबसे बड़ा विरोधी रहा तो वह राव इन्द्रजीत सिंह ही थे।

About Dev Sheokand

Assignment Editor

Check Also

इंटरनेट पर प्यार के बढ़ते ही जा रहे हैं किस्से, अब ये ताज़ा मामला आया सामने !

पानीपत देव श्योकंद सोशल मीडिया व गेमिंग एप पर दोस्ती, प्यार और प्रेम-प्रसंग के कई …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Watch Our YouTube Channel