Breaking News
Home / Breaking News / हिसार मे वाहनों के हुए फर्जी रजिस्ट्रेशन , 4 तहसीलों के कार्यालय शक के दायरे मे , पढ़िए पूरी खबर !

हिसार मे वाहनों के हुए फर्जी रजिस्ट्रेशन , 4 तहसीलों के कार्यालय शक के दायरे मे , पढ़िए पूरी खबर !

हरियाणा के हिसार जिले में वाहनों के रजिस्ट्रेशन में बड़ा फर्जीवाड़ा उजागर हुआ है। यह फर्जीवाड़ा वाहनों के चेसिस नंबर बदलकर दोबारा से रजिस्ट्रेशन करवाने से जुड़ा है। फर्जीवाड़ का यह मामला हांसी, हिसार, बरवाला, नारनौंद के एसडीएम कार्यालय से जुड़ा है। इन कार्यालयों में 300 से ज्यादा वाहनों का रजिस्ट्रेशन फर्जी कागजात और चेसिस-इंजन नंबर बदलकर किया गया है।

बरवाला व हिसार पुलिस ने इस मामले में ट्रांसपोर्ट कमिश्नर की तरफ से डीजीपी को भेजी गई शिकायत के आधार पर धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है। वाहनों के फर्जीवाड़े में एसडीएम कार्यालयों के कर्मचारियों के भी शामिल होने का शक है। ट्रांसपोर्ट कमिश्नर ने उन वाहनों के नंबर की लिस्ट भी पुलिस को भेजी है, जिनका फर्जी तरीके से रजिस्ट्रेशन किया गया है।

पुराने रजिस्ट्रेशन नंबर को नए वाहनों पर जारी कर दिया

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, यह फर्जीवाड़ा बीएस 4 वाहनों के रजिस्ट्रेशन पर रोक लगाने व पुराने वाहनों की उम्र तय करने के बाद हुआ है। सरकार ने बीएस 4 श्रेणी के वाहनों के रजिस्ट्रेशन रोककर पुराने रजिस्ट्रेशन नंबर को ही नए वाहनों पर जारी कर दिया। इसके अलावा डीजल के जो वाहन 10 साल व पैट्रोल के वाहन 15 साल उम्र पूरी कर चुके हैं, उनका भी फिर से रजिस्ट्रेशन कर दिया गया है।

नीलामी में खरीदे-बेचे गए वाहनों का भी टैक्स बचाने के लिए गलत तरीके से रजिस्ट्रेशन किया गया है। वाहनों के रि-रजिस्ट्रेशन का यह पूरा खेल एसडीएम कार्यालयों के अंदर ही किया गया है। जब इन वाहनों का डाटा सरकार के वाहन पोर्टल पर अपलोड किया गया तो एक ही नंबर पर दो वाहनों का रजिस्ट्रेशन या एक चेसिस नंबर का दो नंबरों पर रजिस्ट्रेशन होना पाया गया।

इसके बाद ट्रांसपोर्ट कमिश्नर ने उन वाहनों की लिस्ट निकलावर, उन एसडीएम कार्यालयों के खिलाफ डीजीपी को शिकायत भेजी है, जहां पर इनका रजिस्ट्रेशन किया गया है।

हिसार से पहले हरियाणा के सिरसा, फतेहाबाद, पलवल, होडल, रोहतक, यमुनानगर, करनाल व रोहतक आदि जिलों में इसी तरह का फर्जीवाड़ा पकड़ा जा चुका है। इस फर्जीवाड़े के खुलासे की शुरुआत फतेहाबाद के एसडीएम कार्यालय से 6 अप्रैल 2021 में हुई थी। हिसार कमिश्नर विनय कुमार ने छापामारी करते हुए एसडीएम कार्यालय का रिकॉर्ड जब्त करके जांच की थी। इस खुलासे के बाद अलग-अलग जिलों में हुई जांच के बाद पुलिस ने सैंकड़ों की संख्या में ऐसे वाहनों को जब्त करके उनका रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया था।

About Dev Sheokand

Assistant Editor

Check Also

लालू और ममता मिलकर करेंगे ये बड़ा काम !

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लालू परिवार के साथ हमदर्दी दिखाते हुए भाजपा …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Watch Our YouTube Channel