Breaking News
Home / Breaking News / HERC अध्यक्ष ने कहा – उपभोक्ता के हित और संतुष्टि सबसे पहले हैं , कर्मचारी इस प्राथमिकता को लेकर करें काम !

HERC अध्यक्ष ने कहा – उपभोक्ता के हित और संतुष्टि सबसे पहले हैं , कर्मचारी इस प्राथमिकता को लेकर करें काम !

चंडीगढ़

देव श्योकंद 
  हरियाणा विद्युत विनियामक आयोग (एचईआरसी) के अध्यक्ष आर.के.पचनंदा ने कहा कि बिजली उपभोक्ता के हित और उसकी संतुष्टि सबसे पहले है, इसके लिए उचित कदम उठाएं, एक तो खराब मीटरों को तुरंत बदल कर उनके स्थान पर स्मार्ट/प्रीपेड मीटर लगाएं, आने वाला समय नवीकरणीय ऊर्जा का है, इसलिए इस दिशा में सकारात्मकता के साथ आगे बढें, साथ ही अभी बिजली उपभोक्ताओं के लिए और भी बहुत कुछ करने की आवश्यकता है, उस दिशा में अवश्य पहल होनी चाहिए।


एचईआरसी के अध्यक्ष पचनंदा गुरुवार सायं को एचईआरसी के पंचकूला स्थित एचईआरसी कार्यालय में 25 वीं राज्य सलाहकार समिति (एसएसी)की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। इस अवसर पर एचईआरसी सदस्य  नरेश सरदाना, एचईआरसी के पूर्व अध्यक्ष आर.एन.पराशर, बिजली निगमों के प्रबंध निदेशक तथा विभिन्न श्रेणी से संबंधित बिजली उपभोक्ताओं का प्रतिनिधित्व करने वाले एसएसी के सदस्य मौजूद थे।  इस मीटिंग में उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम (यूएचबीवीएन), दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम (डीएचबीवीएन) की इस वित्त वर्ष की वित्तीय स्थिति, रिन्यूएबल परचेज ऑब्लिगेशन (आरपीओ),कुुसुम स्कीम, फ्यूल सरचार्ज एडजस्टमेंट (एफएसए), एचपीजीसीएल के थर्मल प्लांटों के संचालन और बिजली कनेक्शनों के संबंध में गहन विचार विमर्श हुआ।


HVPN कर रही है बेहतर कार्य


इस मीटिंग में हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम (एचवीपीएन) के एमडी  टी.एल.सत्यप्रकाश ने कहा कि एचवीपीएन बेहतरीन कार्य कर रही है। इसके बाद उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम (यूएचबीवीएन) और दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम (डीएचबीवीएन) के एमडी पी.सी.मीणा ने कहा कि अप्रैल 2015 से लेकर 31 अक्तूबर 2021 तक 21 लाख 36 हजार नए बिजली कनेक्शन दिए गए हैं। यूएचबीवीएन और डीएचबीवीएन को बिजली बिलों के रूप में जो राजस्व मिलता है, वह करीब 80 प्रतिशत ऑनलाइन माध्यमों से मिलता है, 31 अक्तूबर 2021 तक करनाल, पानीपत, फरीदाबाद और गुरुग्राम में 3 लाख 37 हजार 919 स्मार्ट मीटर लगाए गए हैं। वहीं, 1 नवंबर 2021 तक 5487 गांवों में 24 घंटे बिजली उपलब्ध, उन्होंने कहा कि इस वित्तीय वर्ष में यूएचबीवीएन और डीएचबीवीएन का  लाभ 636 करोड़ 67 लाख रुपए है। इतना ही नहीं इन दोनों बिजली वितरण निगमों का एग्रीगेट ट्रांसमिशन एंड कार्मशियल लॉस (एटीएडंसी)16.22 प्रतिशत है, जो अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि है। आरपीओ के निर्धारित लक्ष्य को हासिल करने के लिए निरंतर प्रयास जारी है।


मीटिंग में हरियाणा बिजली उत्पादन निगम (एचपीजीसीएल) के एमडी  मोहम्मद शाइन ने कहा कि एचपीजीसीएल को आजकल जिन चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है, उनको जल्द ठीक कर लिया जाएगा। हरेडा के एमडी हनीफ कुरैशी ने  कहा कि हरेडा ने उत्कृष्ट कार्य किया है और आगे भी इसी गति से अपने कार्य को करती रहेगी, कुसुम स्कीम के भी बेहतरीन परिणाम आए हैं, यह स्कीम किसानों को खुशहाल करने में काफी सार्थक साबित हो रही है। उद्यमियों की तरफ से पानीपत के उद्यमी  विनोद खंडेलवाल ने अपने क्षेत्र की कुछ समस्या रखी तो आयोग ने बिजली वितरण निगमों के एमडी को इन सभी समस्याओं के समाधान के लिए निर्देश दिए। एचईआरसी के पूर्व अध्यक्ष आर.एन.पराशर ने भी बिजली के क्षेत्र में आ रही चुनौतियों के विषय पर अंतरराष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य के कई उदाहरण देकर कैसे इन चुनौतियों पर काबू पाया जाए, इस पर अपने सुझाव दिए। इस मीटिंग में एचईआरसी के सचिव नरेद्र कुमार ने मंच संचालन में अपनी भूमिका निभाई। एसएसी की इस महत्वपूर्ण मीटिंग में बिजली निगमों , हरेडा व एचईआरसी के तमाम वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।—

About Dev Sheokand

Content Editor

Check Also

मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक सचिवों के साथ की अहम बैठक , पढ़िए क्या रहे अहम फैसले !

चंड़ीगढ़ ब्रेकिंग मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रशासनिक सचिवों के साथ की उच्च स्तरीय बैठक बैठक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Watch Our YouTube Channel