Breaking News
Home / Breaking News / HPSC भर्ती फर्जीवाड़े मे कोर्ट ने नहीं बढ़ाया आरोपियों का रिमांड, SIT हेड को लगी फटकार !

HPSC भर्ती फर्जीवाड़े मे कोर्ट ने नहीं बढ़ाया आरोपियों का रिमांड, SIT हेड को लगी फटकार !

चंडीगढ़

देव श्योकंद

पंचकूला : हरियाणा लोक सेवा आयोग भर्ती फर्जीवाड़ा मामले में विजिलेंस ब्यूरो की एसआईटी ने तीनों आरोपियों एचसीएस अनिल नागर, नवीन और अश्विनी को विजिलेंस कोर्ट में पेश किया, जहां कोर्ट ने तीनों आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। आज सुनवाई के दौरान स्टेट विजिलेंस टीम द्वारा 3 दिन की अतिरिक्त रिमांड की मांग की गई थी, लेकिन कोर्ट ने इस पर मंजूरी नहीं दी। इसके उलट कोर्ट ने रिमांड अवधि के दौरान आरोपी एचसीएस अनिल नागर को रोहतक ले जाने के दस्तावेज पेश नहीं करने पर एसआईटी हेड को फटकार लगाई है।

वहीं बचाव पक्ष के वकील विशाल गर्ग नरवाना ने भी रिमांड के दस्तावेजों की मांग की, जिसपर विजिलेंस कोर्ट ने स्टेट विजिलेंस ब्यूरो को बचाव पक्ष के वकील विशाल गर्ग नरवाना को दस्तावेज सौंपने के आदेश दिए। अब मामले की अगली सुनवाई 26 नवंबर को होगी। बता दें कि एचसीएस अनिल नागर की 4 दिन की विजिलेंस की रिमांड की अवधि खत्म होने के बाद आज उसे कोर्ट में पेश किया गया था। वहीं आरोपी अश्विनी और नवीन को कोर्ट ने 22 नवंबर को 1 दिन की रिमांड पर भेजा था।

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले एचपीएसी की डेंटल सर्जन की भर्ती में करोड़ों रूपए लेते हुए एचसीएस अनिल नागर गिरफ्तार किया गया था। अनिल नागर के पास से 24 एचसीएस की लिस्ट भी स्टेट विजिलेंस टीम ने रिकवर की थी। आरोप है कि एचसीएस प्री की परीक्षा को क्लियर कराने की तैयारी चल रही थी। मामले के आरोपी अश्वनी व अनिल नागर से वाट्सएप पर हुई चैट में भी कई खुलासे हुए हैं।

About Dev Sheokand

Content Editor

Check Also

मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक सचिवों के साथ की अहम बैठक , पढ़िए क्या रहे अहम फैसले !

चंड़ीगढ़ ब्रेकिंग मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रशासनिक सचिवों के साथ की उच्च स्तरीय बैठक बैठक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Watch Our YouTube Channel