Breaking News
Home / Breaking News / जहाँ रिकार्ड तोड़ गर्मी में कूलर भी फेंक रहे गर्म हवा , वहाँ पीपीई किट पहन कोरोना वार्ड में इलाज कर रहे हमारे योद्दा , पढ़िए विशेष रिपोर्ट

जहाँ रिकार्ड तोड़ गर्मी में कूलर भी फेंक रहे गर्म हवा , वहाँ पीपीई किट पहन कोरोना वार्ड में इलाज कर रहे हमारे योद्दा , पढ़िए विशेष रिपोर्ट

जयपुर। ( देव श्योकंद )

एक तरफ तो जहाँ पूरे देश में गर्मी ने अपना कहर बरपाना शुरू कर दिया है तो वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो हमें बीमारी से बचाने के लिए 50 डिग्री सेल्सियस की गर्मी में भी पीपीई किट पहन कर लोगों की जाँच कर रहे हैं और कोरोना के मरीजों का वार्ड में इलाज कर रहे हैं । फिलहाल चूरू दुनिया के सबसे गर्म शहरों  में पहुंच चुका है और यहाँ हालात ऐसे बन गए हैं कि कूलर हो या पंखे सबकुछ गर्म हवा ही फेंक रहे हैं । इस बीच आप अंदाजा लगा सकते हैं कि अपनी जान की परवाह ना करते हुए हमारे डाॅक्टर हमें इस महामारी से बचाने में दिन रात लगे हुए हैं । हमारा भी फर्ज यही बनता है कि हमें हमारे योद्दाओं के संघर्ष को देखते हुए अति आवश्यक होने पर ही घरों से बाहर निकलना चाहिए । वार्ड में काम करने वाली एक कर्मी ने बताया कि कोरोना बचाव किट पहन कर वार्ड में काम करना  इतना मुश्किल है कि मानो आग की भट्टी में ही हम कैद हों । नई बिल्डिंग है,इसलिए यहां न कूलर लग पाए हैं न एसी है। सिर्फ पंखे लगे हैं। स्टाफ रूम तक में भी कूलर नहीं है।मुश्किल 1 घंटे वार्ड के अंदर किट पहनकर रह पाते हैं। किट पहनने के के दस मिनट में ही इतना पसीना आता है कि कपड़े भीग जाते हैं। उनका काम कोरोना मरीजों को दवा, चाय, काढ़ा देना होता है। उन्हें टेम्प्रेचर लेना होता है। इस सब में वक्त लगता है। और बिना किट पहने भीतर नहीं जा सकते। एक और कर्मचारी बताते हैं किमेरा काम फील्ड और हॉस्पिटल दोनों जगह का है। सैम्पल लेने के पहले पीपीई किट पहनना ही पड़ती है।फील्ड में तो हम 15 मिनट से ज्यादा किट नहीं पहन पा रहे हैं। थोड़ी भी देर हुई की लगता है किट नहीं उतारी तो बेहोश हो जाएंगे।कुछ दिनों पहले तक किट पहनकर 30 मरीजों तक के सैम्पल कलेक्ट कर लेते थे लेकिन अब एक बार में 15 के ही कर पा रहे हैं।15 मिनट के बाद किट उतारकर एक घंटे आराम करते हैं। पेट भरकर पानी पीते हैं। फिर नई किट पहनकर सैम्पलिंग करते हैं।

About Dev Sheokand

Assignment Editor

Check Also

रेवाड़ी में पति ने की पत्नी की बैट से पीट-पीटकर हत्या, घरेलू कलह का बताया जा रहा है मामला

रेवाड़ी रेवाड़ी के गांव नांगलिया रणमोख में 28 वर्षीय पति ने अपनी 26 वर्षीय पत्नी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Watch Our YouTube Channel