Breaking News
Home / Breaking News / चावल घोटाले में बड़ी कार्रवाई / 16 मिलों की संपत्ति अटैच, 5 की संपत्ति होगी कुर्क

चावल घोटाले में बड़ी कार्रवाई / 16 मिलों की संपत्ति अटैच, 5 की संपत्ति होगी कुर्क

करनाल

प्रदेश में हुए चावल घोटाले में बडी कार्रवाई को अंजाम दिया गया है  !

करनाल में सीएमआर (कस्टम मिलिंग राइस) का चावल कम मिलने पर जिला प्रशासन मिलर्स के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगा। फिजिकल वेरिफिकेशन में जिन मिलों में चावल कम मिला, ऐसे 16 राइस मिलर्स की प्रॉपर्टी अटैच की गई है। इनमें 5 मिलों की संपत्ति की कुर्क की जाएगी, जबकि तरावड़ी में एक मिल की 8 एकड़ जमीन प्रशासन ने अपने कब्जे में ले ली है। इनमें स्टॉक बहुत कम मिला है।

दरअसल, एक सप्ताह पहले जिले में राइस मिलों में मिलिंग के लिए अलॉट धान की फिजिकल वेरीफिकेशन के आदेश दिए गए थे। एडीसी अशोक बंसल के नेतृत्व में 6 टीमों ने 41 राइस मिल व डीएफएस की तरफ से कुल 45 मिलों की चेकिंग की गई। दोनों अधिकारियों ने जांच कर रिपोर्ट डीसी निशांत कुमार यादव को सौंपी। डीसी निशांत कुमार यादव ने बताया कि 16 मिलों में चावल कम मिला है। इनकी प्रॉपर्टी अटैच कर दी है और पूरी रिपोर्ट संबंधित विभाग को भेज दी गई है।

5 राइस मिलों में बहुत कम चावल मिला है। ऐसे इनकी प्रॉपर्टी कुर्क की जाएगी। जो धान अलॉट किया था, मिलों की प्रॉपर्टी बेचकर उसका पैसा वसूल किया जाएगा। प्रॉपर्टी अटैच करने से मिलर्स में हड़कंप मचा हुआ है। तरावड़ी में धरती पुत्र राइस मिल की प्रॉपर्टी पहले से अटैच की हुई थी। मिल पर सरकार के 6.5 करोड़ रुपए बकाया था। मिल की 8 एकड़ जमीन कुर्क कर 2.5 करोड़ रुपए की वसूली की गई है। अब 4 करोड़ रुपए भी अन्य प्रॉपर्टी से वसूल किए जाएंगे। एक राइस राइस मिल ने रिकॉर्ड दिखाने से मना कर दिया और एक मिल पर ताला लगा मिला। इन मिलों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

लाॅकडाउन के दौरान राइस मिलर्स ने सीएमआर का चावल पंजाब में 28 से 30 रुपए प्रति किलो के हिसाब से बेचा। लॉकडाउन के दौरान पंजाब में इस बार पीआर चावल की अच्छी डिमांड थी। हरियाणा के राइस मिलर्स ने वहां पर चावल बेचकर अच्छा मुनाफा कमाया। इसी कारण सीएमआर का चावल एफसीआई को वापस नहीं कर पाए। दूसरा इस बार सरकार ने सख्ती कर दी।

राइस मिलर्स हर साल यूपी और बिहार से सस्ता चावल लाकर एफसीआई में लगा देते थे, लेकिन इस बार सख्ती के कारण कुछ राइस मिलर्स वहां से चावल नहीं ला पाए। 10 दिन पहले यूपी की दो गाड़ियों को पकड़ लिया था और दोनों के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया गया। डर के मारे दूसरे राइस मिलर्स भी बाहर से चावल नहीं मंगवा पाए और ऊपर से सरकार ने फिजिकल वेरीफिकेशन के आदेश दे दिए। इसी कारण 16 राइस मिलर्स के ऊपर गाज गिरी। प्रदेश में हुई इस बड़ी कार्रवाई को देखने के बाद प्रदेश के राइस मिलर्स मे खलबली मच गई है !

About Dev Sheokand

Assignment Editor

Check Also

प्रदेश में 24 पुलिस इंस्पेक्टरों को मिला प्रमोशन का तोहफा , पदोन्नति पाकर बने डीएसपी , देखिए ये सूची

चंडीगढ़ ।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Watch Our YouTube Channel