Breaking News
Home / Photo Feature / सदका है हर एक बीमारी का इलाज , पढ़िए कैसे संपादकीय विशेष में

सदका है हर एक बीमारी का इलाज , पढ़िए कैसे संपादकीय विशेष में

नई दिल्ली । 

एक समय एक मिश्र का कारोबारी जो हृदय की गंभीर बीमारी से ग्रस्त था और काहिरा स्थित अस्पताल में असफल इलाज करवा चुका था, को यह सलाह दी गई थी कि वह लंदन जाकर विशेषगो का परामर्श लेकर अपनी बाईपास सर्जरी करवाए। इसी बीच वह मांस खरीदने एक कसाई की दुकान पर गया जहां उसने एक बूढ़ी महिला को कसाई द्वारा काटे काटे गए मास के छोटे-छोटे टुकड़ों को इकट्ठा करते देखा। पूछने पर उस बूढ़ी महिला ने बताया , कि वह एक गरीब विधवा है जिसकी कोई आमदनी नहीं  कि वह अपने बच्चों की भूख मिटा सके जो मांस खाना पसंद करते हैं इसलिए वह मांस के टुकड़ों को इकट्ठा करने के लिए मजबूर थी यह बात सुनकर उस कारोबारी का दिल करुणा से भर गया और उसने कसाई को उस बूढ़ी महिला को रोजाना माल देने का निर्देश दिया जिसका खर्चा वह वहन करेगा। कुछ समय के बाद उस कारोबारी को यह महसूस हुआ कि उसे हृदय से संबंधित बीमारी के लक्षण,  जैसे थकान की वजह से लंबी लंबी सांसे खींचना अब गायब हो चुका था उसने स्थानीय डॉक्टरों को दिखाया और बाद में लंदन की डॉक्टरो की सलाह ली, जिन्होंने यह निष्कर्ष निकाला कि वह कारोबारी की बीमारी पूरी तरह से ठीक हो चुकी थी। उसे याद आया कि उसका स्वास्थ्य उसी दिन से सुधारने लगा था जिस दिन से उसने उस बूढ़ी महिला की सहायता करनी शुरू की थी। यह घटना साबित करती है कि अल्लाह की इच्छा-सदका इसे देने वाले को हर बीमारी व बुराइयों से बचाती है। इसके अलावा, बगैर धार्मिक भेदभाव के जरूरतमंदों की सहायता करना ईशवर  धर्म है।

About Dev Sheokand

Assignment Editor

Check Also

हिंदुस्तान में है सभी धर्मों को समान स्वतंत्रता , पढ़िए संपादकीय विशेष

हिन्दुस्तानी आवाम और मुल्क की तरक़्क़ी: एक धर्म निरपेक्ष मुल्क होने के कारण हिन्दुस्तान प्रत्येक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Watch Our YouTube Channel