Breaking News
Home / Breaking News / सुशांत आत्महत्या मामले में मुंबई पुलिस ने कहा – जाँच करने का अधिकार सिर्फ हमारे पास है , जानिए ताजा घटनाक्रम के बारे में

सुशांत आत्महत्या मामले में मुंबई पुलिस ने कहा – जाँच करने का अधिकार सिर्फ हमारे पास है , जानिए ताजा घटनाक्रम के बारे में

मुंबई ।

सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या मामले की जांच को लेकर बिहार और मुंबई पुलिस के बीच विवाद जारी है। मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि इस पूरे मामले में बिहार पुलिस को जांच करने का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि इस पर कानूनी सलाह ली जा रही है और अभी तक किसी को भी क्लीन चिट नहीं दी गई है। बिहार पुलिस के अधिकारी को क्वारंटीन करने के सवाल पर परमबीर सिंह ने कहा कि ये अधिकार हमारे पास नहीं है, किसी को क्वारंटीन करने का अधिकार बीएमसी रखती है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में पुलिस कमिश्नर ने बताया कि 16 जून को सुशांत के परिवार वालों ने कहा था कि उन्हें किसी पर शक नहीं है।
कमिश्नर से मिली जानकारी के मुताबिक रिया ने सुशांत के घर को आठ जून को छोड़ा था, रिया के भी परेशान होने की खबर सामने आ रही है। उसकी हालत भी ठीक नहीं थी, इसलिए रिया घर छोड़ कर चली गईं। इसके बाद सुशांत की बहन आईं और वो 13 जून को चली गईं क्योंकि उनकी बेटी की परीक्षाएं थीं। मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने बताया कि बिहार पुलिस की एफआईआर कहती है कि सुशांत के अकाउंट से 15 करोड़ रुपये गबन हो गए। जांच के दौरान हमने पाया कि सुशांत के खाते में 18 करोड़ रुपये थे, जिसमें से 4.5 करोड़ रुपये अभी भी खाते में हैं। अभी तक रिया चक्रवर्ती को सीधे तौर पर पैसा ट्रांसफर करने का कोई मामला नहीं दिखा है। कमिश्नर ने बताया कि रिया के दो बार बयान दर्ज किए गए, जिसमें पहली बार उन्होंने बताया कि उन दोनों के रिश्तों में कुछ खट्टास थी। उन्होंने मिलने की कहानी को लेकर, सुशांत की मानसिक बीमारी और कुछ घटनाओं को लेकर जानकारी दी। कमिश्नर का कहना है कि रिया चक्रवर्ती और सुशांत सिंह राजपूत के परिवार में कुछ अनबन थी। कमिश्नर ने बताया कि उनकी बहन को दोबारा तलब किया गया था, लेकिन वो किसी तरह के बयान देने की स्थिति में नहीं थी और तब भी परिवार वालों ने किसी पर शक की संभावना नहीं जताई थी। इसके अलावा सुशांत के पास से एक डायरी मिली जिसमें वो महीने का खर्च का हिसाब रखते थे। सुशांत ने अपने सीए से महीने के खर्च को कम करने के लिए भी कहा था, इसके अलावा सुशांत की गूगल हिस्ट्री में बायपोलर, खुद का नाम और बिना दर्द के मौत जैसे शब्दों को सर्च किया गया था। कमिश्नर ने बताया कि इस मामले में मनोवैज्ञानिक से बात की गई है, अब तक 56 लोगों के बयान लिए जा चुके हैं। सुशांत के फ्लैट को सील कर दिया गया है, उन्होंने दिशा से एक बार ही मुलाकात की थी और उनकी मौत में अपना नाम आने पर वो काफी परेशान थे। बता दें कि हाल ही में सुशांत के पिता ने रिया चक्रवर्ती के खिलाफ धोखाधड़ी और आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया है।

About Dev Sheokand

Check Also

बरोदा उप चुनाव के लिए तारीख घोषित , जानिए किस तारीख को होगा चुनाव

नई दिल्ली  बरोदा उपचुनाव को लेकर जो इंतजार था वो अब खत्म हो गया है। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Watch Our YouTube Channel