Breaking News
Home / Breaking News / भारत के 10 करोड़ कार्ड धारकों के डेटा चोरी की खबर आई सामने , जानिए क्या है पूरा मामला

भारत के 10 करोड़ कार्ड धारकों के डेटा चोरी की खबर आई सामने , जानिए क्या है पूरा मामला

NEW DELHI 

DEV SHEOKAND 

एक बार फिर भारतीय यूजर्स के क्रेडिट और डेबिट कार्ड के डेटा चोरी की खबरें आ रही हैं। साइबर सुरक्षा मामलों के साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर राजशेखर राजहरिया ने दावा किया कि देश के करीब 100 मिलियन (10 करोड़) क्रेडिट और डेबिट कार्ड धारकों के डेटा डार्क वेब पर बेचा जा रहे हैं। डार्क वेब पर मौजूद ज्यादातर डेटा बेंगलुरु स्थित डिजिटल पेमेंट्स गेटवे जसपे (Juspay) के सर्वर से लीक हुआ है। बीते महीने राजशेखर ने देश के 7 मिलियन (70 लाख) से ज्यादा यूजर्स के क्रेडिट और डेबिट कार्ड का डेटा लीक होने का दावा किया था।

रिसर्चर के मुताबिक, ये डेटा डार्क वेब पर बेचा जा रहा है। लीक डेटा में भारतीय कार्डधारकों के नाम के साथ उनके मोबाइल नंबर्स, इनकम लेवल्स, ईमेल आईडी, परमानेंट अकाउंट नंबर (PAN) और कार्ड के पहला और आखिरी चार डिजिट की डिटेल्स शामिल हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर इसके स्क्रीनशॉट भी शेयर किए हैं।

JUSPAY ने बताई कम यूजर्स की संख्या

कंपनी ने इस बारे में बताया कि साइबर अटैक के दौरान किसी भी कार्ड के नंबर या फाइनेंशियल डिटेल से कोई समझौता नहीं हुआ है। रिपोर्ट में 10 करोड़ यूजर्स के डेटा लीक होने की बात कही जा रही है, जबकि असली संख्या उससे काफी कम है।

कंपनी के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा है कि 18 अगस्त, 2020 को हमारे सर्वर तक अनधिकृत तौर पर पहुंचने की कोशिश किए जाने का पता चला था, जिसे बीच में ही रोक दिया गया। इससे किसी कार्ड का नंबर, वित्तीय साख या लेनदेन का डेटा लीक नहीं हुआ। कुछ गैर-गोपनीय डेटा, प्लेन टेक्स्ट ईमेल तथा फोन नंबर लीक हुए, लेकिन उनकी संख्या 10 करोड़ से काफी कम है।

दिसंबर में लीक हुआ था 70 लाख यूजर्स का डेटा

बीते महीने देश के 7 मिलियन (70 लाख) से ज्यादा यूजर्स के क्रेडिट और डेबिट कार्ड का डेटा लीक हुआ था। राजशेखर राजाहरिया ने डार्क वेब पर गूगल ड्राइव लिंक की खोज की थी, जिसे “Credit Card Holders data” के नाम का टाइटल दिया गया था। यह गूगल ड्राइव लिंक के माध्यम से डाउनलोड के उपलब्ध थी। इसमें भारतीय कार्डधारकों के केवल नाम ही नहीं बल्कि उनके मोबाइल नंबर्स, इनकम लेवल्स, ईमेल आइडी और परमानेंट अकाउंट नवंबर (PAN) डिटेल्स शामिल थी।

About Dev Sheokand

Assignment Editor

Check Also

परिवहन विभाग से सरप्लस हुए ड्राइवरो को अब यहां किया जाएगा शिफ्ट , पढ़िए पूरी खबर

चंडीगढ़ Dev Sheokand हरियाणा के परिवहन विभाग में भारी वाहन चलाने वाले लगभग 1000 ड्राइवर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Watch Our YouTube Channel